सवाल-जवाब करने के तरीक़े

English

जो बाबा जी से सवाल पूछना चाहते हैं, उनका चुनाव लॉटरी के तरीक़े से रोज़ सत्संग से पहले किया जायेगा। यह चुनाव की जगह सुबह 7:00 am बजे खुलेगा और 8:00 am बजे बंद हो जाएगा, जिसके बाद लाटरी का चुनाव होगा। अगर आपने प्रश्न पूछना हो तो, आप पहले सत्संग हॉल में अपनी सीट रख़ कर, फिर हॉल के पिछले हिस्से में जहाँ सवाल-जवाब के लिए चुनवाई हो रही हो, वहाँ आ जाएँ । अगर आप न चुने गए हों, तो आप अपने सीट पर वापस चले जाएँ । चुने जाने के बाद, किसी और को, सवाल-जवाब के लाइन में लगने की अनुमति नहीं है ।

अगर सवाल अंग्रेज़ी, हिंदी या पंजाबी में न हों
अगर आप अंग्रेज़ी, हिंदी या पंजाबी के इलावा किसी और भाषा में सवाल पूछना चाहते हैं तो अपना सवाल लिखकर अनुवाद एरिया (ट्रांसलेशन स्टेशन) पर ले आएँ। यह एरिया एंट्रेंस नंबर 2 पर है। अनुवादक सेवादार आप के सवाल का अनुवाद करके, बड़े अक्षरों में एक खास फॉर्म पर लिख देंगे। अगर आपको लगता है कि आप क़ी भाषा का अनुवादक नहीं होगा तो आप अपना सवाल पहले से किसी से अंग्रेज़ी में अनुवाद करवा कर अपने साथ ले आएँ। एक बार आप को अनुवाद किया हुआ सवाल एक स्पेशल फॉर्म पर मिल जाए तो उस फॉर्म को ले कर आप सवाल-जवाब चुनाव एरिया में आ जाएँ।

सवाल जवाब के लिए हिदायतें:

डेरे से सवाल जवाब के बारे में नीचे लिखी जानकारी सब को देने के लिए कहा गया है।

  1. सवाल पूछने वालों की उम्र 18 या 18 से बड़ी होनी चाहिये।
  2. सवाल छोटे और स्पष्ट होने चाहिये।
  3. सिर्फ एक सवाल पूछना चाहिये।
  4. सवाल सिर्फ रूहानियत के बारे में होने चाहिये ना की निजी, आर्थिक, सेहत, पारिवारिक या राजनीतिक समस्याओं के बारे में।
  5. दूसरों कि ओर से सवाल ना पूछें।
  6. लम्बे नोट, कविताएँ या चिट्ठियाँ ना पढ़ें।
  7. जब बाबा जी आप के सवाल का जवाब दे रहें हों तो उनको बीच में ना टोकें। आप कुछ बोलने से पहले, आप उनको अपनी बात ख़तम करने दें।

अगर दो भाषाओँ के लिए अलग अलग माइक्रोफोन हुए तो आप को उस लाइन में रखा जायेगा जिस लाइन की भाषा में आप सवाल पूछना चाहते हैं। आप को उसी भाषा में सवाल पूछना चाहिए।

कृपया याद रखें कि बाबा जी को उनकी सेहत, उनके परिवार या उनके वेश के बारे में सवाल न करें और ना ही नई फोटो और रिकॉर्डिंग के बारे में कोइ सवाल करें। बाबा जी हमें याद दिलातें हैं कि यह मार्ग शिक्षा के बारे है ना की व्यक्तित्व या भौतिक रूप के बारे में। डेरे से मिली हुई इन हिदायतों का पालन करके, हम अपना शुक्राना ज़ाहिर करें।

संगत के लिए निवेदन

  1. सत्संग प्रोग्राम के दौरान, किसी भी वक्त पर ताली ना बजाएं।
  2. कृपया सवाल पूछने वालों क़ी गोपनीयता का आदर करें और मुड़ कर उन्हें देखने क़ी कोशिश ना करें।